Adsense se approval Kaise le [Only 2 steps 2022]

Adsense se approval kaise le? क्या करें जिसे हमें अपनी ब्लॉग पर adsense को approv करबा सके। आज हम साडी बातें डिसकस करेंगे जिसे आप बड़ी आसानीसे अपनी ब्लॉग को adsense के द्वारा approve करबा सकेंगे। बस ये दो steps follow करो और लेलो गूगल से adsense का approval। 

Adsense se approval kaise le hindi me ?

क्या आप भी एक ब्लॉगर हो जो adsense approval के लिए दिनरात मेहनत करते हो पर सफलता नहीं मिल रही है। क्या आप को पता है Adsense se approval kaise le?क्या आप को पता है, हर बार आपका application रिजेक्ट हो जाता है। क्या है इसका सही कारण ? आप पूरी यूट्यूब हो या इंटरनेट छान लो, आपको कोईभी सही जानकारी नहीं देंगे।

पता नहीं उनको इसका सही बजह पता नहीं या जान बुझ कर आपको नहीं बताते हैं। चलो आज में ये समझानेकी की कौशिश करूँगा की कैसे adsense से approval लेते हैं। और वो सारि बातें आपसे साँझा करूँगा जिसे मैंने अपनी ब्लॉग पर adsense का अप्रूवल लिया। खुसी की बात ये है की मुझे आज के दिन Google adsense का अप्रूवल मिला।

Adsense approval lene ke tarike hindi me

यहाँ पे आपको वो सारि technical बातें नहीं बताऊंगा । क्यों की मुझे पता है की आपको ये सब पहले से ही मालूम होगा । क्यूंकि अप्रूवल रिजेक्शन होने के बाद आप youtube और internet को खंगाल चुके होंगे। और बार बार आपको वही सब बात सुननी पड़ती होगी।

में ये नहीं बोलूंगा की ये सब बकवास है। इसको भी करना चाहिए अगर आपको adsense approval लेना है तो। पर ये सब करने के बाद कोई गारेंटी नहीं है की आपको अप्रूवल मिल जायेगा। ये सब rules follow करने के बाद भी आपका application reject हो जायेगा।

Adsense approval rejected
Adsense approval rejected

ऊपर दिए गए सारे rules और youtubers के टिप्स फॉलो करने के बाद भी मेरा एप्लीकेशन तीन बार रिजेक्ट हुआ। क्या वो एक्सपर्ट लोग गलत बोलते थे ?जी नहीं बल्कि वो लोग सही तरीका नहीं बताते थे।

Kya hai sahi tarika adsense approval pane ke liye

तो आपके मन में ये सवाल आता  होगा की Google adsense approval kaise le? क्या है सही तरीका । चलो आज हम इस आर्टिकल में एहि बात समझेंगे की कैसे हम अपनी ब्लॉग पर काम करे जिसे हमें adsense का अप्रूवल मिल जाये। मेने ये सब कैसे किया पूरी बिस्तार से जानकारी दूंगा।  

गूगल किस बिना पर ये तय करता है की किसी को adsense का अप्रूवल दे या नहीं। ब्लॉग पर ट्रैफिक आना अप्रूवल का पैमाना नहीं होता। क्यूंकि आज नहीं तो कल ट्रैफिक धीरे धीरे आहि जायेगा। गूगल ये देखता है की आप कितने serious हो अपनी ब्लॉग को लेके। कैसे आप अपने ब्लॉग को maintain करते हो visitors के लिए।

अगर आपका ब्लॉग सही है ,optimized है और error free है तो आपका adsense approval मिलना पक्का है। गूगल इस तरह के websites को प्रमोट करता है और रैंकिंग भी देता है।

Google ek website ko kaise parakhta hai?

  1. Website 5 से 6 महीने पुरानी हो।
  2. ब्लॉग की डिज़ाइन सरल हो ताकि visitors वेबसाइट को ठीक से surf कर पाए।
  3. Important pages ब्लॉग पर होनी चाहिए जैसे -about us, Disclaimer, contact us ,terms & condition और sitemap 
  4. Copyright free इमेज हो।
  5. इस्तेमाल किये गए इमेज customized हो ताकि जल्दी डाउनलोड हो।
  6. ब्लॉग की स्पीड अच्छी हो ताकि ब्राउज़र पर जल्दी खुले।
  7. Blog मोबाइल responsive हो ,यानि मोबाइल पर अच्छी तरह से खुले।
  8. Unique और plagiarism free content हो जो visitors को value दे सके। 

Read also-

  1. CIBIL Score kya hai?
  2. RFID kya hai ?kya hai iska full form?

Adsense se approval pane ke tarike

  1. पहले अपने वेबसाइट पर एक अच्छा सा light weight थीम को install करो और उसे अच्छी तरह से customize करो।
  2. Important pages add करो जैसे की -about us, contact us, disclaimer, terms and condition, sitemap इत्यादि।
  3. उसके बाद अपने ब्लॉग पर 15 से 20 article publish करो। ध्यान रखे की इन 20 पोस्ट minimum 1000 words की होनी चाहिए। और सबसे खास बात इन 20 पोस्ट में से 4 से 5 पोस्ट गूगल की 1st पेज पे आनी चाहिए। यानि रैंक करनी चाहिए।

Read also-

  1. Instagram reels ko viral Kaise Karen?
  2. Shopsy app se paise kamaye

Kaise post ya article ko rank Karen?

इसके लिए ऐसा टॉपिक अपनी niche से चुनो जिसके ऊपर बहत कम पोस्ट internet पे लिखी गई हो। ये पता लगाना आसान है। इसके लिए कोई seo tool की जरुरत नहीं है। गूगल सर्च से पता चल जाता है। सर्च करते समय गूगल सर्च बार के निचे जो नंबर आता है वो होता है की कितनी पोस्ट लिखा गया है। अगर पोस्ट के नंबर एक लाख से कम है तो शुरू हो जाओ उसके ऊपर आर्टिकल लिखने के लिए।

अब अपनी हर पोस्ट को  सोशल मीडिया पे शेयर करो। ध्यान रखे की आपको ट्रैफिक नहीं मिलेगा पर पोस्ट रैंक जरूर करेगा। मेरे साइट में भी ट्रैफिक नहीं है पर पोस्ट रैंक कर रहा है। क्यों की जो कीवर्ड पे हम आर्टिकल लिखे हैं उसका सर्च वॉल्यूम कम है। पोस्ट रैंक करेगा तो गूगल के लिए ये एक अच्छा इंडिकेशन है।

बस इतना ही करने के बाद adsense के लिए apply कर देना है । और गूगल से रिप्लाई आने तक नया नया पोस्ट लिखते जाना है। १५ से २० दिन बाद रिप्लाई आजायेगा की आपका साइट adsense के लिए approve नहीं हुआ है। यानि गूगल ने आपको अप्रूवल नहीं दिया।

बस यहाँ से खेल शुरू होता है।

Google Adsense se approval kaise le

अब आपको गूगल को ये दिखाना है की आप अपनी ब्लॉग के लिए कितने serious हो। अब search console आपकी मदत करेगा adsense पाने के लिए। चलो जानते हैं कैसे।

Search console से पता चल जायेगा की आपकी साइट पे क्या क्या प्रॉब्लम है जिसको आपको सुधारना है। इसके लिए coreweb vitals और page experience को अच्छी तरह से परखना है। हर एक error  को ध्यान से पढ़ो और समझने की कौशिश करो। ज्यादातर दो ऐसे factors है जिसे आपकी site पे error आता है।

WEBSITE SPEED

MOBILE USABILITY

ये दो फैक्टर्स है जिसके बजह से error आता है और इसी बजह से हर बार आपका application  reject हो जाता है। ये दोनों को fix करो और adsense approval लेलो।

Coreweb vitals ko kaise thik Karen ?

coreweb vitals की बहत सारे फैक्टर्स है जिसे आप एक के बाद एक solve  करके उसे validate करना है। चलो जानते हैं कैसे करें ?

Read also

  1. Jiomeet क्या है?what isjiomeet inHindi?
  2. Yaari reselling app क्या है और कैसे इस्तेमाल करें?

Website speed ko kaise badhayen?

पेज स्पीड ये है की आपकी  वेबपेज ब्राउज़र में जल्दी खुले। यानि अगर कोई आपकी ब्लॉग पर आता है तो उसके सामने आपका पेज जल्दी ओपन हो जाये। इसके लिए आपको कुछ चीज़ों का ध्यान रखना है।

  1. अगर आप किसी सस्ती होस्टिंग का  इस्तेमाल करते हो तो उसे तुरंत एक अच्छी होस्टिंग से replace करो। आपको एक अच्छी और बेहतर होस्टिंग की चुनाब करें , जैसे -होस्टिंगर ,ब्लूहोस्ट ,साइटग्रॉउंड इत्यादि।
  2. एक लाइट वेट थीम use करें। जैसे -Generate press ,astra इत्यादि।
  3. अपनी ब्लॉग पर इस्तेमाल किये गए images को कस्टमाइज करो। यानि अगर आपकी इमेज JPEG या PNG फॉर्मेट में है तो इसे तुरंत WEBP फॉर्मेट  से कन्वर्ट करें । webp फॉर्मेट light weight होने के कारण  जल्दी डाउनलोड होता है। ये सब आप manually कर सकते हो नहीं तो plugin का सहारा ले सकते हो। मेरे हिसाब से मैन्युअली करना बेहतर है। आप ऑनलाइन अपनी images को Webp फॉर्मेट पर convert कर सकते हो।
  4. java script minify और cache के लिए wordpress plugin का इस्तेमाल करें। ये आपकी स्पीड को और बढ़ा देगा।

Blog ko mobile responsive banaye। Make the blog mobile responsive

ब्लॉग को मोबाइल रेस्पॉन्सिव बनाने का मतलब ये है की मोबाइल से आपकी ब्लॉग अच्छी लगे और जल्दी खुले। इससे ये होगा की viewers आपकी ब्लॉग को अच्छी तरह से surf कर पाएं।

हम लोग ज्यादातर मोबाइल का इस्तेमाल करते हैं और ब्राउज़िंग भी अपने मोबाइल पे ही करते हैं।

इसीलिए गूगल चाहता है की viewers को वो ब्लॉग दिखाए जो मोबाइल responsive हो। ये एक major factor है adsense की approval लेने के लिए। चलो जानते हैं की अपने ब्लॉग को मोबाइल रेस्पॉन्सिव बनाने के लिए क्या करना पड़ेगा?

इसकेलिए आपको वर्डप्रेस पर एक प्लगइन को install करना पड़ेगा जिसका नाम है AMP plugin। AMP का मतलब होता है  “Accelerated Mobile Pages” या त्वरित मोबाइल पेज।  जिसका अर्थ ये है की मोबाइल पर आपका ब्लॉग जल्दी से खुलेगा। वर्डप्रेस पर बहत सारे AMP plugin महजूद है उनमेसे एक को अपने वर्डप्रेस पर इनस्टॉल करो।

निष्कर्ष -Adsense se approval kaise le?

मुझे लगता है की आज आपको ये पता लग गया होगा की Adsense se approval kaise le? जी हाँ ये बिलकुल आसान है पर हम को सही दिशा दिखनेवाले होने चाहिए। मैंने जो स्टेप्स बताया है उसे follow करो १००% गारन्टी है की आपको अप्रूवल मिल जायेगा। अगर पोस्ट अच्छी लगे तो कमेंट करना और कुछ अधिक जानकारी चाहते हो तो mesg करना। पोस्ट को शेयर जरूर करना ताकि दुषरे भी इसका फायदा उठा सके। धन्यवाद्।

FAQs- Adsense se approval kaise le?

कितने दिन बाद adsense के लिए apply करनी चाहिए ?

कम से कम 3 महीने अपनी ब्लॉग पर काम करो। १५ से २० अच्छी अच्छी पोस्ट पब्लिश करो। वेबसाइट को कस्टमाइज करो। उसके बाद adsense के लिए application डालो।

कितनी Traffic होनी चाहिए adsense की अप्रूवल पाने के लिए ?

बहत कम ट्रैफिक से भी अप्रूवल मिल जाता हे। पर उसके बाद अगर ट्रैफिक नहीं आती तो ad limit लग सकता है और adsense disable भी हो सकता है।

ब्लॉगर के लिए adsense requirements

Leave a Comment