cibil score kya hai

CIBIL Score kya hai?Kya hai CIBIL ki full form?

CIBIL Score kya hai ?कैसे एक अच्छी CIBIL Score आपको बैंको से लोन प्राप्त करने के लिए आपकी मदत करती है। चलो आज इस Article के माध्यम से जानने की कोसिस करेंगे की CIBIL Score kya hai और कैसे यह decide करता हे की किसको लोन मिले और किसको नहीं।

बहत सारे लोग अपने जरूरतों के लिए जैसे की घर हो या गाड़ी ,शादी हो या बच्चों के पढ़ाई ऐसे अन्य  कामों के लिए बैंक हो या फाइनेंस कंपनी से लोन लेते हैं। क्या  finance institutions/banks सबको loan दे देता  है ?

नहीं , किसीको बड़ी आसानीसे लोन मिल जाता है ,किसीको लोन मिलने में दिक्कत होता है और किसीको loan मिलता नहीं। आखिर ऐसे  क्यों होता है ? किस आधार पे यह सब बैंक decide करते हैं की किसको loan दिया जाये और किसको नहीं ?

दरअसल आपकी CIBIL Score यह decide करता हे की किसको लोन मिलेगा और किसको नहीं। तोह अभी आपके मन में आता होगा की यह CIBIL Score kya hai? क्या है CIBIL की full form और कैसे CIBIL Score काम करता है ?

CIBIL Score kya hai

CIBIL Score बैंक से  ऋण (loan) लेने की एक मापदंड है। CIBIL Report से बैंक आपकी ऋण अदा करने के पिछले रिकॉर्ड और आपकी उस ऋण को लौटाने की क्षमता को परखता है। आपकी CIBIL Score को परख ने के बाद बैंक decide करता है की आपको loan sanction करें या नहीं।

इसलिए आपका CIBIL स्कोर एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है जो आपको बैंक से ऋण प्राप्त करने में मदद करता है। इसलिए आपके CIBIL स्कोर को जानना बहुत महत्वपूर्ण है और इस CIBIL स्कोर की गणना कैसे की जाती है। आपके CIBIL स्कोर को प्रभावित करने वाले बहुत सारे कारक हैं। आपके CIBIL स्कोर की गणना करने के लिए आपका ऋण लौटाने की क्षमता उनमें से एक है।

CIBIL Score full form kya hai?

CIBIL एक कंपनी है जिसका फुल फॉर्म है Credit information  beuro india limited जिसके पास सारे बैंको और finanace companies का Data store होके  रहता है। CIBILको RBI के द्वारा अनुमोदित किया गया है।

इससे भी पढ़ें

Dhani wallet kya hai?

Glance Kya hai?

CIBIL Score meaning in Hindi

cibil Score बैंक से  ऋण (loan) लेने की एक मापदंड है जिसे बैंक आपकी ऋण अदा करने के पिछले रिकॉर्ड और आपकी उस ऋण को लौटाने की क्षमता को परखता है।

यह सभी बैंको से उनके Customers का डाटा अपने Data base में Store करके रखता है चाहे वह सरकारी बैंक(Govt.bank) हो या निजी  बैंक(Private bank) हो या कोई फाइनेंस कंपनी(Finance company) हो।

सभी सरकारी बैंक ,निजी बैंक और फाइनेंस कंपनी यह सभी CIBIL के member है इसीलिए यह सब अपनी customer के डाटा CIBIL से share करते हैं।

एकअच्छा CIBIL Scoreकितना होता है ?

चलो जानते हैं की Customer की जो डाटा CIBIL में स्टोर होती है वह कब और कैसे काम में आता  है। जब कोई loan के लिए बैंक के पास जाता हे या loan के लिए apply करता है तोह बैंक उन customer की CIBIL Report, CIBIL से मंगाता है।

CIBIL, Customer का CIBIL Report बैंक को देता है जहाँ पे बैंक उस customer की CIBIL Score को check करता है। Customer के CIBIL Score देखने के बाद बैंक decide करता है की उस Customer को loan दिया जाये या नहीं। यह CIBIL स्कोर 300 से 900 तक का होता है। अगर आपका  Score 700 से ज्यादा है तोह यह एक बेहतर CIBIL Score माना जायेगा।

यह Score जिसका जितना ज्यादा होगा उसे loan मिलने की संभावना उतना ज्यादा होगा। आपका Score जितना अधिक होगा, आपको लोन मिलने के chance ज्यादा होगा।और  अगर आपका score 700 से कम हे तोह आपको लोन प्राप्त करने  के लिए दिक्कत होगी।

CIBIL Score kaise calculate hota hai ?

कारक(factors) जो आपकी CIBIL Score को प्रभाबित करता है है।

आपके ऋण भुगतान का इतिहास, क्रेडिट मिक्स (सुरक्षित और असुरक्षित ), भारी क्रेडिट का  उपयोग से CIBIL को आपके CIBIL Score की गणना करने में मदद मिलती है।

इससे भी पढ़ें

Blog kaise banaye

What is web hosting in hindi

OK meaning in Hindi

CIBIL Score को कैसे सुधारा जा सके ?

चलो जानते हैं की कैसे हम अपनी सिबिल स्कोर को सुधर सकते हैं। सिबिल स्कोर को बड़ी आसानी से सुधारा जा सकता है।

  1. अगर CIBIL Report में कुछ डाटा गलत दिया हे जिसकी बजह से आपकी score कम दिखा रहा है तोह आपको उसे ठीक करना है। इसकेलिए आपको official website पे request भेज सकते हो। अगर आप की query सही हे तोह सिबिल आपकी score बढ़ा देता है।
  2. अभी के समय में अधिकांश बैंक FD against Credit card का सुबिधा प्रदान करते हैं। उदाहरण के लिए ICICI और HDFC बैंक, जो आपको FD against Credit card का लाभ प्रदान करते हैं, जहाँ आप अपने Fixed  Deposit  के 70% तक का ऋण ले सकते हैं और अपना CIBIL Score भी सुधार सकते हैं ।
  3. Amount debit card के जरिये आपका CIBIL Score को सुधारा जा सकता है। इसके लिए आपको ऑनलाइन कुछ सामान EMI से खरीदना है और उसका EMI को  ठीक समय पे payment करके अपनी CIBIL Score को ठीक कर सकते हो।
  4. Credit Card की  उपयोग अत्यधिक ना करें।
  5. अपनी EMI को ठीक तरह से बिना defaulter हुए चुकाए।
  6. लोन की प्राप्ति केलिए कभी जल्दबाज़ी ना करें। पूरी जानकारी लेने के बाद अपनी जरुरत के हिसाब से लोन के लिए आबेदन करें।
  7. आपकी secured और unsecured लोन के बिच एक तालमेल बिठा के रखें।

CIBIL Report कहाँ से मिलेगी ?

अभी आपके मन में यह सवाल आता  होगा की कैसे आप अपनी CIBIL Score को check कर सकते हैं और कहाँ से आपको CIBIL Report मिलेगी। क्यों की कोई भी बैंक आपको  CIBIL Report नहीं देती। तोह इस स्थिति में आपको आपकी CIBIL Score कितना है कैसे पता चलेगा ?

इसकेलिए आपको CIBIL की official website में जाना होगा और वहां पे आपको कुछ personal data  को upload करके  registration करना होगा। इसकेलिए आपको अपनी email id ,name ,mobile number की जरुरत पड़ेगी।

एक बार रजिस्ट्रेशन होने के बाद आपको Rs 550 रूपए online payment करना होगा। पैसा deposit होने के तीन दिन बाद आपको  CIBIL Report आपकी Email में आ जायेगा।

निष्कर्ष (Conclusion)

यहाँ पे हम अपनी यह लेख CIBIL Score kya hai को समाप्त करते हैं। आशा करता हूँ की आपको मेरी यह post पसंद आयी होगी। यदि आपको कुछ नया सिखने को मिला तोह इस लेख को अपनी दोस्तों के साथ साँझा करेंगे। मिलते हैं।